Hindi story: नेपोलियन Story In hindi | Best Moral Story for Class 5 To 9 in Hindi

Hindi story: नेपोलियन Story In hindi | Best Moral Story for Class 5 To 9 in Hindi : Best Moral Story: नेपोलियन शूरवीरता तथा कुशाग्रबुद्धि के साथ – साथ अपनी दरियादिली के लिए भी विख्यात था । एक बार वह अपने सैनिकों के साथ उस स्कूल में पहुँचा , जहाँ वह बचपन में पढ़ा करता था । स्कूल के दरवाज़े के पास एक बूढ़ी औरत बैठी थी , जो बच्चों के खाने – पीने की चीजें बेचकर मुश्किल से अपना गुजर – बसर करती थी । नेपोलियन घोड़े से उतरकर सीधा उस बूढ़ी औरत के पास गया । 

नेपोलियन ने उससे पूछा , ” माँ तुमने मुझे पहचाना ? 

बुढ़िया ने कहा , ” बेटा ! मेरी आँखें कमज़ोर हो गई हैं , लेकिन तुम्हारा चेहरा जाना पहचाना लगता है । 

” नेपोलियन उससे पूछा , “ कई साल पहले नेपोलियन नाम का एक लड़का इस स्कूल में पढ़ता था वह तुमसे खाने पीने की चीजें लिया करता था । स्कूल छोड़ने से पहले वह तुम्हारे पास कुछ उधार छोड़ गया था । बताओ वह उधार कितना था ?

Hindi story
Hindi story

 ” उस बूढ़ी ने जब बड़े ध्यान से नेपोलियन को देखा , तो वह उसे पहचान गई और उससे कहा , ” हाँ नेपोलियन ! तुम मेरे पास इतना उधार छोड़ गए थे । 

” नेपोलियन ने फौरन उस उधार से कई गुणा अधिक राशि उस औरत को देते हुए कहा ” माँ ! यह इतनी राशि है कि अब तुम्हें इस बुढ़ापे में काम करने की कोई ज़रूरत नहीं है आप बाकी ज़िंदगी आराम से बिताओ ।

 ” उस बूढ़ी औरत ने गद्गद् होकर आशीर्वाद देते हुए पूछा “ नेपोलियन आजकल तुम करते क्या हो । 

” नेपोलियन ने घड़ी विनम्रता से उत्तर दिया , ” माँ , मैं फ्रांस का शासक हूँ । यह सुनकर वह बुढ़िया नेपोलियन की सहायता और जूनून देखकर भौचक्की रह गई और उसने नेपोलियन को उसकी दरियादिली के लिए बहुत आशीर्वाद दिया । तब तक नेपोलियन वहाँ से जा चुका था ।…

Thank You For Reading Best Moral Story In hindi Plaese Share Your Experince. 

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.