कहानी – लेखन ( Story Writing ) | Best Moral story in hindi for kids

इस लेख में एक moral story का बर्णन किया गया है जो छोटी क्लास के बच्चों की मानसिक शक्ति को बढाने के लिहाज से एक दम सही हैं। इस कहानी लेखन में बच्चों को दो बकरियो की समझदारी के किस्से को संछिप्त में बतलाय गया है । जो बच्चे class 1 ,2 ,3 ,4 में हैं उन्हें ये कहानी बहुत मजेदार और साथ ही ज्ञान को बढाने वाली ही ।

Moral story : दो समझदार बकरियाँ

समझदार बकरियाँ बहुत समय पहले की घटना है । रामपुर गांव के पास एक गहरा नाला बहता था । नाले में बहुत अधिक पानी था ; इसीलिए गाँव वालों ने नाले को पार करने के लिए उस पर लकड़ी की लंबी – लंबी दो बल्लियाँ डाल दी थीं , उन बल्लियों पर धीरे – धीरे पैर जमाकर रखते हुए सिर्फ एक आदमी ही एक बार में आर – पार जा सकता था । बराबरः बराबर चलकर दो व्यक्तियों का एक साथ पार उत्तर पाना असंभव था ।

एक दिन गाँव वालों ने एक अद्भुत नजारा देखा कि लकड़ी की बल्लियों से होकर दो बकरियाँ आमने – सामने से आ रही थी । दोनों एक दूसरे के आमने – सामने आकर ठहर गई । अब क्या हो ? यह बात बकरिया ही नहीं , गांव वाले भी सोच रहे थे । सब तरह तरह की अटकलें लगा रहे थे । अचानक एक बकरी उन दोनों बल्लियों पर जमकर बैठ गईं ।

लोगों ने अचरज से देखा कि दूसरी बकरी उसके ऊपर पैर जमाकर चढ़ गई और इधर बल्लियों पर पैर रखती हुई उस पार हो गई । बकरी के जाते ही दूसरी बकरी भी उठी और बड़ी आसानी से उस चली गई । लोगों की रुकी साँस एकदम खुशी में बदल गई ।

सबने बकरियों की समझदारी पर तालियाँ बजाई । सचमुच यदि मुसीबत में समझदारी से काम लिया जाए , तो कौन – सी ऐसी समस्या है जो सुलझाई नहीं जा सकती ।

इस कहानी लेखन (moral story) से हमे क्या शिक्षा मिलती है –

शिक्षा- हमें संकट के समय जल्दबाजी से नहीं , धैर्य से काम लेना चाहिए ।

Leave a Comment