पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध | Essay On Envirment Pollution In Hindi

पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध लेखन में आज हम जानेंगे प्रदूषण के प्रकार, प्रदूषण की समस्या निबंध हिंदी में, पर्यावरण प्रदूषण के कारण और निवारण, पर्यावरण प्रदूषण का अर्थ, पर्यावरण प्रदूषण के कारण, पर्यावरण प्रदूषण क्या है। आदि और एक अति महत्वपूर्ण समस्या पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध लेखन करना सीखेगे जो class 1 to 12 के छात्रों के लिए काफी उपयोगी सिद्ध होगा, छात्र इस पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध को याद कर परीक्षा में अच्छे नम्बर ला सकते हैं ।

पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध
पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध

प्रस्तावना- पर्यावरण प्रदूषण क्या है

सर्वप्रथम जब मानव का अस्तित्व इस दुनिया में आया , उस समय सारा वातावरण अत्यंत निर्मल और शांत थी । चारों ओर हरियाली थी और जीव – जंतु भी अपने आवासों में सुरक्षित रहते थे । धीरे – धीरे मानव शिक्षित होता गया और उसकी लालसा बढ़ती गई । आज भी इसका अंत नहीं हुआ है , जिसका दुष्परिणाम है- प्रदूषण की समस्या जो दिन – पर – दिन च भयंकर होती जा रही है ।

पर्यावरण प्रदूषण का अर्थ और पर्यावरण प्रदूषण के कारण-

प्रदूषण का अर्थ है- पर्यावरण का प्रदूषित हो जाना । हमारे जीवन में पेड़ – पौधे , हवा – पानी , जीव – जंतु आदि बहुत बड़ी भूमिका निभाते हैं । हम अपने भोजन , जल और साँस लेने के लिए इन पर निर्भर हैं । इन सबके मेल से पर्यावरण बनता है । प्रकृति ने इनमें उचित संतुलन रखा है किंतु मनुष्य ने अपने स्वार्थ के लिए इस संतुलन को बिगाड़ दिया है , जिस कारण प्रदूषण की समस्या ने जन्म लिया है ।

पर्यावरण प्रदूषण के कारण

पेड़ – पौधे हमारे जीवन का आधार है । ये पर्यावरण – संतुलन को बनाए रखते हैं । जनसंख्या बढ़ने से जमीन की कमी को पूरा करने के लिए वनों की अंधाधुंध कटाई की गई , जिसके कारण पर्यावरण – संतुलन बिगड़ गया । परिणामस्वरूप अनेक प्रकार के प्रदूषणों ने जन्म ले लिया । वाहनों , मिलों के धुएँ तथा कूड़े – करकट के ढेरों से भी प्रदूषण होता है । जब मनुष्य दूषित हवा में साँस लेता है तो शरीर के कोमल अंग क्षतिग्रस्त हो जाते हैं , जिससे कैंसर , क्षय आदि असाध्य रोग होने का खतरा बना रहता है ।

मनुष्य नित्य अपनी गंदगी नदियों व तालाबों में बहाता रहता है । मिलों – कारखानों से निकलने वाले गंदे रसायनों को नदियों में छोड़ने के कारण वे प्रदूषित हो रही हैं । निरंतर बढ़ती जनसंख्या सभी प्रकार के प्रदूषणों को और अधिक बढ़ा रही समाधान- प्रदूषण की भीषण समस्या के समाधान के लिए सरकार को कठोर कानून बनाकर कड़ाई से उनको लागू करना चाहिए । वनों की कटाई बंद की जानी चाहिए । लोगों को अधिक – से – अधिक पेड़ लगाने और उनकी देखभाल करने के लिए जागरूक करना चाहिए । सबसे जरूरी है कि प्रदूषण के खतरों से जन – जन को परिचित कराया जाए ।

उपसंहार- पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध उपसंहार

आज प्रदूषण की समस्या विश्वव्यापी है । पर्यावरण को स्वच्छ व शुद्ध बनाने में हमें अपना पूरा सहयोग देना चाहिए । अपने आस – पास अधिक से अधिक पेड़ – पौधे लगाने चाहिए और पुराने पेड़ों को काटने से रोकना चाहिए तभी हम इस समस्या पर काबू पा सकते हैं।

Leave a Comment